Sunday, February 19, 2017

Happy Birthdat to Surendra Mohan Pathak Ji

मेरी नजर में हिंदी जासूसी और अपराध कथा के सबसे होनहार लेखक सुरेन्द्र मोहन पाठक जी को उनके जन्मदिवस पर इस ब्लॉग की ओर से ढेर सारी शुभकामनायें. हमारे प्रिय लेखक आज 77 वर्ष के हो गए हैं परन्तु उनकी उर्जा आज भी बरकरार है. 

पाठक जी के बारे में विस्तार पूर्वक जानने के लिए दिए गए लिंक पर जाएँ - 



3 comments:

Rani said...

Ye jankar bahut khushi huyi ki ap jaisa bloggist bhi pathakji k prashanshak hain...yadi sambhav ho sake to unke kuch purane novels post karne ki jahmat karein...ap bahut hi mahan karya kar rahe hain..har kisi ki jindagi me utar-chadhav aate rahte hain bas ishwar se prathna hai ki wo sabhi karhinayio ko sahne aur aage badhne ki himmat pradan kare...meri shubhkamnayein apke sath hai...

Anupam Agrawal said...

@रानी जी - सबसे पहले तो आपके कमेंट के लिए शुक्रिया.

सच कहूं तो मैंने पाठक जी के केवल कुछ उपन्यास ही पढ़े हैं, पर जो भी पढ़े अच्छे लगे. जहाँ तक रही बात पाठक जी के नोवेल्स की, तो उनके लिए अभी सोचा नहीं है, वैसे भी नावेल स्कैन करना काफी कठिन कार्य है. शायद भविष्य में करूँ.

पर वैसे पाठक जी के उपन्यास शायद प्रिंट हो ही रहे हैं, तो उनकी लेखनी का सम्मान करते हुए उन्हीं उपन्यासों के बारे में विचार करूँगा जो आउट ऑफ़ प्रिंट हो चुके हैं.

PDF BOOK said...

आपका ब्लाॅग बहुत ही अच्छा है। यहाँ उपलब्ध पुस्तकें बहुत ही दुर्लभ है।
धन्यवाद ।

पुस्तकों की समीक्षा पढें
www.pdfbookbox.blogspot.in