Tuesday, May 28, 2013

डाल्टन कॉमिक्स (डी सी) अंक 01-क्रमांक 02 - सुपरमैन & बैटमैन



जैसा की पहली कड़ी में मैंने लिखा था - सुपरमैन निःसंदेह कॉमिक्स जगत के सर्वाधिक लोकप्रिय महानायकों में से एक है. दशकों की इस यात्रा में भी सुपरमैन का आकर्षण कम नहीं हुआ है. हिंदी में सुपरमैन को प्रस्तुत करने का श्रेय जाता है - चंदामामा के प्रकाशकों को जिन्होंने 1 सितम्बर 1982 को भारतीय कॉमिक्स में एक नए युग का सुभारम्भ किया जब डाल्टन कॉमिक्स के शानदार चरित्रों ने हमारी भाषा में बोलना शुरू किया. 

प्रथम ऐतिहासिक अंक के बाद इस सीरिज का द्वितीय  स्वर्णिम अंक आपके सामने प्रस्तुत है. 


(अनुराग दीक्षित जी का धन्यवाद, हार्ड कॉपी के लिए)

5 comments:

Shivkumar Vaishnaw said...

Thanks, Anupam Bhai for another rare upload.

Anupam Agrawal said...

@Shiv - Bhai, I am only inspired by you right now. and the only reason I am still posting.

Gaurav Gandher said...

Thanks a lot for sharing

Anupam Agrawal said...

@Gaurav - You are welcome Bro.
Missing your contribution in ICE Project.

MOHIT said...

great work thanks a lot