Monday, March 4, 2013

नूतन चित्रकथा(B) अंक 54 - इन्साफ का तराजू Nutan Chitrakatha(B)#54 - Insaaf Ka Taraajzu

इस माह के लिए चयनित चार चित्रकथाओं में से दो तो आपके सामने आ ही चुकी है। दो विदेशी चित्रकथाओं के हिंदी संस्करण के बाद आज प्रस्तुत है खालिस देसी कहानी - नूतन चित्रकथा (बड़े आकार की) अंक 54 - इन्साफ का तराजू।
जैसे की नाम से जाहिर ही यह कहानी है एक राज्य की जो न्याय के लिए जाना जाता था और जहां न्याय कभी नहीं हार चाहे अपराधी कोई भी हो। पढ़िए ये शानदार चित्रकथा। 

High Resolution Upload (40 MB)



Click Here to Download


3 comments:

Ashu said...

Link is not working, please check and ammend.

Ashu said...

link not working, please check and ammend.

Anupam Agrawal said...

@Ashu - Both the links (this and Laural Hardy) are working perfectly.

Try to download them once again.