Sunday, July 22, 2012

चुड़ैलों की गली (मनोज बाल पॉकेट बुक्स)

दोस्तों, एक अरसा हो गया है यहाँ कुछ भी पोस्ट किये हुए. कल ही मनोज भाई का पोस्ट देखा और उनका कमेन्ट पढ़ा कि बाल पॉकेट बुक्स को सहेजने के इस प्रयास में वो अकेले रह गए हैं. उनका कहना सच है कि कॉमिक्स को सहेजने वाले काफी सारे दोस्त यहाँ मौजूद हैं पर बाल पॉकेट के लिए कोई आगे नहीं आता, 

तो अपने इस ब्लॉग को जिसे मैं स्वयं भूल बैठा था - अब से अपना योगदान देता रहूँगा. मनोज भाई - इस कार्य में मैं भी वापस आ गया हूँ - अब आप अकेले नहीं हैं.

प्रस्तुत हैं मेरे पसंदीदा प्रकाशन मनोज पॉकेट बुक्स से एक बाल पॉकेट - चुड़ैलों की गली (लेखक - मनोज)

http://www.mediafire.com/?bonsxw5kyxxwp2l