Saturday, March 10, 2012

चित्रभारती कथामाला ४१ - मौत का फ़रिश्ता (प्राइवेट डिटेक्टिव कपिल)

प्राइवेट डिटेक्टिव कपिल, भारतीय कॉमिक्स के सच्चे चाहने वालों के लिए नया नाम नहीं है, और इसके रचयिता अनुपम सिन्हा किसी परिचय के मोहताज नहीं हैं. राज कॉमिक्स से जुड़ने से पहले अनुपम जी ने चित्रभारती में बहुत ही उच्च कोटि का कार्य किया था. भले ही चित्रभारती कथामाला ने लम्बी पारी न खेली हो - पर भारतीय चित्रकथाओं के इतिहास में एक सम्मानजनक स्थान रखती है. 

मौत का फ़रिश्ता 

अनुपम सिन्हा जी की कृति कपिल - बिना किसी सुपर पावर के (जैसा की अब उनके या शायद सभी के चरित्र हो चुके हैं) एक आम पत्र था जिससे हर कॉमिक्स प्रेमी एक जुड़ाव महसूस करता है. दुर्भाग्यवश इस बेहतरीन चरित्र की मेरी जानकारी के अनुसार केवल ४ ही चित्रकथाएं प्रकाशित हुयी थी (चित्र भारती के प्रकाशकों द्वारा प्रकाशित पत्रिका चोकोलेट को छोड़ दें तो). शेष तीन तो अपलोड हो चुके हैं और आज इस अपलोड के साथ चारों ही प्रकशित चित्रकथाएं सुरक्षित हो गयी हैं.

तो प्रस्तुत है - चित्रभारती कथामाला ४१ - मौत का फ़रिश्ता (प्राइवेट डिटेक्टिव कपिल)

कॉमिक्स के लिए यहाँ क्लिक करें 

I'm thinking of reviving Private Detective Kapil. I still have a few tight scripts of PDK already with me.
 (As he wrote in the ICE Project Group in Facebook)

*शुक्रिया दीपक जोशी जी का जिन्होंने इस कॉमिक्स के मिसिंग अंतिम के पृष्ठ प्रदान किये.

4 comments:

AJAY said...

nice story

Dhruv Adarsh said...

हम भी हैं चित्रभारती के चाहने वालों में|
ढेर सारा प्यार दुलार आपकी इस चित्रभारती को|
धन्यवाद|

ANURAG AGGARWAL said...

mamaskar Anupam Agarwal sahab. Mein pichle panch salon se comics ko follow kar raha hoon scd yahoo group ke zamane se jab wahan par comics upload hoti thin ya phir Frank Hardy ke blog par ya aapke ya comic bhai ke blog par. mein sabhi uploaders ko aise jaanta hoon jaise wo mere family members hon!!! lekin sabhi uploaders mujhe nahi jante sivay meraj bro aur kuldeep kaushik bro jinhe maine comics upload karne ke liye di thi. is anupam krati ke lie aapka abhinandan!!!!!!!!!!!!!!

ANURAG AGGARWAL

Gaurav Gandher said...

Thanks a lot Anupam Bro for one more great comic