Monday, December 6, 2010

APHARAN (VISHWA VIJAY PRAKASHAN) अपहरण (विश्व विजय प्रकाशन)

सुप्रभात दोस्तों, 

भारतीय कॉमिक्स के खजाने में से दुर्लभ रत्नों को सुरक्षित कर आपके सम्मुख प्रस्तुत करने की श्रृंखला में आज प्रस्तुत है - विश्व विजय प्रकाशन (विश्व विजय प्राइवेट लिमिटेड, कनाट सर्कस, नई दिल्ली) की शानदार चित्रकथा - अपहरण. विश्व विजय प्रकाशन पूर्व में दिल्ली बुक कंपनी के नाम से प्रकाशन करती थी जिसके शानदार बाल पत्रिका - चम्पक से आप सभी अवश्य परिचित होंगे. 

बहरहाल, अपहरण कहानी है स्क्वाड्रन लीडर ललित की जिन्हें लद्दाख में लापता हुए तीन भारतीय विमानों की खोज का कार्य सैनिक जांच आयोग द्वारा सौपा जाता है. इन विमानों के लापता होने का क्या रहस्य था? और कारण और विमानों का पता लगाने में ललित और उनके साथी कहाँ तक सफल हुए? यह जानने के लिए अवश्य पढ़े - अपहरण (राजेश गोस्वामी जी द्वारा लिखित) 

आभार  - इस चित्रकथा को उपलब्ध करने के लिए अरुण कुमार जी का बहुत-बहुत धन्यवाद, और साथ ही अजय मिश्रा जी का भी जिन्होंने इस चित्रकथा को स्केन कर मुझे भेजा है, ताकि मैं यहाँ इसे आप लोगों के साथ बाँट सकूं. 

तो प्रस्तुत है - विश्व विजय प्रकाशन की शानदार चित्रकथा - अपहरण 
डाउनलोड ऑप्सन सेलेक्ट करें - 

3 comments:

akfunworld said...

Anupam ji is comics ke liye bahut bahut dhanyawaad kyonki pahle to ye ek purani comics hai aur dusraa ye kisi aise prakaashan ki comics hai jiski ab tak ek bhi comics mere paas nahi thi. Ye dekh kar bhi achaa lagaa ki aap abhi ache form mein aa gaye hain, aur aasha kartaa hun isi tarah se behtareen comics aur bal pocket books hamaare liye uplabdh karaate rahenge.

Han maine aapse jo ek alag se comics request karne ke liye page banane ke liye bola tha, uske bare mein aapne kya socha, agar possible ho to please uspe kaam karen, kyonki uskaa faayda aur koi uthaye na uthaye main jaroor us page ka khoob use karunga.

Ek baar fir se is behtareen comics ke liye badhai.

Nishant said...

thanks bro!!Never heard about this publication.Story is looking great!!

The Devil said...

I've never heard of this one too. Thanks for sharing mate